मैं तुमसे प्यार करना चाहता हूँ – kAASH

काश तुम बयां होती शब्दों में,
मै तुम्हे लिखना चाहता हूँ,
और जहां छोड़ दे सब तेरा साथ
वहाँ भी तेरे साथ दिखना चाहता हूँ,
मैं हँसना चाहता हूँ,
तेरे साथ रोना चाहता हूँ,
अगर गम हो तुझे कोई,
तो उस गम को तुझसे छीनना चाहता हूँ,
हो इजाज़त अगर तुम्हारी,
मैं तुमसे प्यार करना चाहता हूँ.

चलना चाहता हूँ,
ठहर जाना चाहता हूँ,
पर अकेले नहीं,
ये सब तेरे साथ चाहता हूँ,
तेरे बालों के साथ,
कान की बालियों के साथ,
खेलना चाहता हूँ,
तेरी बातों मैं, तेरी ख़ुशबू मैं,
तेरी रूह का किस्सा ही नहीं,
जि़न्दगी का एक हिस्सा बन जाना चाहता हूँ,
देर रात आसमान के नीचे
तुम्हारे साथ तारे गिनना चाहता हूँ,
हो इजाज़त अगर तुम्हारी,
मैं तुमसे प्यार करना चाहता हूँ.

जब हो बरसात तो उस बरसात में
तेरे साथ भीगना चाहता हूँ,
इतनी बातें होने पर भी,
बहुत साड़ी बातें अधूरी है आज भी,
उन सभी बातों को पूरा करना चाहता हूँ,
बहुत कुछ कहना और बहुत कुछ सुनना चाहता हूँ,
वैसे तो औकात नहीं किसी की
kAASH को खरीद सके.
अगर तुम खरीदो तो,
मैं बिकना चाहता हूँ.
हो इजाज़त अगर तुम्हारी,
मैं तुमसे प्यार करना चाहता हूँ.

This is your admin Sunil Gupta, Please follow me on Instagram for questions and complaints or drop an email here

Comments

comments

19 Comments

  1. Rocky

    Ur poem Very nice…

    Reply
  2. Isha

    nice poem kash

    Reply
    1. kAASH

      Isha Ap kitne Time Se Ho is page pr

      Reply
      1. Isha

        फरवरी से

        Reply
  3. Rocky

    शायद कभी ना कह सकूँ मैं तुमको
    कहे बिना समझ लो तुम शायद
    शायद मेरे ख़याल में तुम एक दिन
    मिलो मुझे कहीं पे गुम शायद

    जो तुम ना हो रहेंगे हम नहीं
    जो तुम ना हो रहेंगे हम नहीं

    ना चाहिए कुछ तुमसे ज़्यादा, तुमसे कम नहीं
    जो तुम ना हो तो हम भी हम नहीं
    जो तुम ना हो तो हम भी हम नहीं
    ना चाहिए कुछ तुमसे ज़्यादा, तुमसे कम नहीं

    Reply
  4. Naina

    Superb poem ylll

    Reply
  5. Naina

    नहीं जीना मुझे अब उस नकली अपनों के मेले में…..
    खुश रहने की कोशिश कर लूंगा खुद हीं अकेले में …!!
    .

    Reply
  6. Maahi

    Hello everyone…

    Reply
  7. Naina

    वो लम्हे वो वादे
    सब भूल जाना ही सही
    तू जी ले मेरे बगैर
    मुझे जीना ही नही ।

    पत्थर दिल क्यों हो गई तू
    तूने किसी गैर को अपना बना लिया
    अब तू खुश है और कही
    तू जी ले मेरे बगैर
    मुझे जीना ही नही ।
    .
    .
    .
    .
    Hiii mahiyaaa

    Reply
  8. Maahi

    Kaise ho nainu?

    Reply
    1. Naina

      Mast mahiyaaa or app swthrtttt

      Reply
  9. ROCKY

    Agar kisi ka pyaar nhi mila
    to kya hua
    khud se hi Mohbbat krke
    has liya kro….

    Reply
  10. Isha

    pr ap q pooch rahe hai
    ap mereko jante hai???

    Reply
  11. Radhika

    Nice poem

    Reply
  12. RK

    Good evening….

    Reply
  13. Klp

    kya poem h
    kash mai b aise poem likh pata
    Or shyd likhunga b ek din

    Reply
  14. KLP.

    Kaise likh lete ho poem itna achha behtrin dil ko chhu jaaye….

    Reply
  15. kAASH

    Koi H yha jo 2018 starting se yha ho???

    Reply
  16. Isha

    good afternoon dosto aj sab log kha gayab ho

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *