Heart Touching hindi poem

first love story, true hindi

Mai or meri Nishudi – Shiv Pandit

Ek din hm dono nikle muhbbt ke chirag jlane……..m or meri nishudi…..vo meri jindgi ki andheri raho me…diye hath me lekr rkh rhi h….m roshni ka tlbkaar hokr,diye jlaye jata hu…Meri jindgi roshn hoti ja rhi h…or vo muskurati ja rhi h…kon????m or meri nishudi…..vo mera hath pkd kr,mujhe rah ke patthro se bchati ja …

Mai or meri Nishudi – Shiv Pandit Read More »

Heart touching hindi poem

Kash tumne kbhi mujhe samjha hota – Ashi

Tumne kbhi samjha hi nhi Na hi kbhi samjhna chaha samjha wahi mujhe Jo khud samjhna chaha Jo samjha mujhe WO thi hi nhi Jo thi WO ap Jan (samjh) na sake meri bato ko man na sake Meri bate, mera pyar, mera parwah karna tum samjh na sake samjhe bhi to usko sirf dikhawa …

Kash tumne kbhi mujhe samjha hota – Ashi Read More »

Sad hindi poem

“दुनिया का सबसे बड़ा सत्य” – Ajay

एक दिन वो मेरे पास आई और पूछी कि पापा माँ कहाँ है , तुम तो कहते हो वो सितारा हैं आसमाँ की , तो बताओ न आखिर वो आसमाँ कहाँ है … बेटी के इन प्रश्नों ने एक तीर दिल मे मारी थी , कैसे उसे बता दूं मैं उसकी माँ मृत्यु से हरी …

“दुनिया का सबसे बड़ा सत्य” – Ajay Read More »

Sad hindi story

Khud kiTalash Abhi baki hai – Chanchal

खुद की तलाश मे भटकती सी “मैं ” अनगिनत, अनन्त, असीम सवालो के संग! न जाने किस अधूरे पन को भरती सी- मैं | कई रिश्ते, जज्बात, रास्ते, और मंजिलों से गुजरती सी मैं | न जाने कितने एहसासों मै संवरती बिखरती सी “मैं ” कहा किस डगर किधर जा रही हूँ | क्या है? …

Khud kiTalash Abhi baki hai – Chanchal Read More »

Heart Touching Poem

खुद से रूठ था और चल रहा था मैं – Raushan

खुद से रूठा था और चल रहा था मै. गिर गया था उसके दर पे और संभल रहा था मै. ख्वाहिशे थी कांच के जैसी कुछ इस कदर . धूल चेहरे पर थी और आईना बदल रहा था मै.!! उनकी यादो का था ऐसा कुछ असर. अपनी जिंदगी से आगे निकल रहा था मै. ख्वाब …

खुद से रूठ था और चल रहा था मैं – Raushan Read More »