Tag Archive: Hear touching poem

वो ख्वाब -Raushan & Angel

First love story in garden

वो ख्वाब जो देखे थे मैंने. कब भूल गया मुझे याद नहीं. वर्षे बीती रैना जागे. ख्वाब जो चलते थे मेरे आगे. सपना धूमिल मंजिल धूमिल. फिर भी नित निशदिन वो जागे. कब छूट गया फरियाद नहीं. कब भूल गया…
Read more