Poem

Samjhana jaruri nhi smjhta – Sam

Heart touching poem

मेरा और उसका रिश्ता औरों से कुछ अलग है” सड़क पार करते वक्त मैं उसका हाँथ तो नही थामता हूँ, लेकिन खुद से ज्यादा परवाह करता हूँ मैं उसकी.. सर्दी होने पर जब वो छीकती है तो उसकी पीठ पर…
Read more

Dhundhla sa ishq – Sam

Real love poem

तू एक धुंधली सी शाम है एक रोशन सा सवेरा है… जब दिल में देखता हूं झांक कर अपने आज भी धड़कनो पर तेरी यादों का पहरा है तू एक धुंधली सी शाम है एक रोशन सा सवेरा है… मैं…
Read more

मैं और मेरी बेपनाह इश्क – Amit Kashyap

Heart touching hindi poem

मैं और मेरी बेपनाह इश्क , आज दोनो ये सवाल कर बैठे. खो गए उन गुज़रे वक़्त के तन्हाइयो मे और बेवजह ये अपना हाल कर बैठे. दिल ने भी तसल्ली दी की वो आएंगे लौटकर कभी. और हम रो-रो…
Read more

खुद से रूठ था और चल रहा था मैं – Raushan

Heart Touching Poem

खुद से रूठा था और चल रहा था मै. गिर गया था उसके दर पे और संभल रहा था मै. ख्वाहिशे थी कांच के जैसी कुछ इस कदर . धूल चेहरे पर थी और आईना बदल रहा था मै.!! उनकी…
Read more