Monthly Archive: December 2015

वो साँवली लड़की – Abhishek Tripathi

वो साँवली थी….अपनी माँ के लिए…. अपने पापा के लिए….पर अपनी दोस्तों के लिए? … उनके लिए वो “काली” थी…..बहुत जहीन लड़की थी….. हाँ बचपन से सौन्दर्य को लेकर ज्यादा ही सम्वेदनशील थी…..किशोरवय होने पर उसे पता चला कि गोरा…
Read more

मेरी भी एक कहानी! – Saurabh

ये कहानी है उस दौर की..जब कॉलेज में २ कंपनियां आके चली गयीं थी…और मेरा प्लेसमेंट अभी नहीं हुआ थाहौसला बढ़ाने के लिए घर पर माँ थी ..और महीने में एक बार फोन करके पैसे हैं कि नहीं पूछने वाले…
Read more